स्मार्ट इंडिया हैकेथोन-2020 के दूसरे दिन एनआईईटी ग्रेटर नोएडा नोडल सेंटर पर दिखा जोरदार उत्साह:

ग्रेटर नोएडा । एनआईईटी ग्रेटर नोएडा, नोडल सेंटर पर स्मार्ट इंडिया हैकेथोन-2020 के दूसरे दिन 2 अगस्त 2020 को सुबह 8:30 पर प्रतिभागियों ने पूरे जोश के साथ कोडिंग शुरू की। पहले दिन मेंटर तथा ज्यूरी मेंबर्स के साथ किए गए संवाद का प्रभाव देखने को मिला तथा प्रतिभागियों ने मेंटर्स के द्वारा दी गई सलाह की सराहना की।
अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद के चीफ इन्नोवेशन ऑफिसर डॉ अभय जेरे ने एनआईईटी ग्रेटर नोएडा नोडल सेंटर पर प्रतिभाग कर रही दो टीमों नॉरकोड्स तथा मैवेरिक्स के साथ संवाद किया तथा उनका फीडबैक लिया। डॉ जेरे ने प्रतिभागियों को प्रोत्साहित किया तथा उन्हे राष्ट्र की अपेक्षाओं के बारे में अवगत कराया। उन्होने आगे कहा कि हमें आशा ही नहीं पूरा विश्वास है कि जिस उद्देश्य को लेकर स्मार्ट इंडिया हैकेथोन-2020 का आयोजन किया गया है हमारी युवा शक्ति उस पर निश्चित ही खरी उतरेगी।
एसआईएच-2020 के कार्यक्रम में लीडरशिप टॉक परिचर्चा में डॉ तनुजा नेसारी, निदेशिका, अखिल भारतीय आयुर्वेद संस्थान, आयुष मंत्रालय भारत सरकार ने प्रतिभागियों के साथ संवाद किया तथा उनका उत्साहवर्धन किया। डॉ नेसारी ने प्रतिभागियों को संबोधित करते हुए कहा कि हमें समस्याओं को इन्नोवेटिव तरीके से सुलझाना होगा। आयुष मंत्रालय की समस्या विवरण जो कि ऑनलाइन ओपीडी अप्वाइंटमेंट तथा हॉस्पिटल इनफॉरमेशन सिस्टम के लिए ऐप के विकास से संबंधित है, के संबंध में प्रतिभागियों को अवगत कराया एवं उन्हे सरलतम एवं उत्कृष्ट समाधान प्रस्तुत करने के लिए प्रोत्साहित किया। डॉ नेसारी ने कहा कि आयुर्वेद का मूलभूत सिद्धान्त रोग को समूल नष्ट करना है तथा आयुर्वेदिक औषधियों में वह शक्ति है जिससे हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता इतनी मजबूत हो जाये कि रोग हमारे पास फटक भी नहीं सकते हैं। उन्होने कहा कि आज के युग में आर्टिफ़िशियल इंटेलिजेंस, उन्नत सेंसर्स एवं तकनीक के प्रयोग से हम आयुर्वेद को विश्व में नयी ऊंचाई पर पहुंचा सकते हैं। डॉ नेसारी ने प्रतिभागियों को विशेष रूप से यह सलाह दी कि गैप आइडेंटिफिकेशन के माध्यम से हम सही समस्याओं की पहचान एवं उनका उचित समाधान कर सकते हैं। डॉ नेसारी ने कहा कि हैकेथोन के माध्यम से हमारी सरकार तथा औद्योगिक संस्थान अपने सामने आने वाली जटिल समस्याओं के समाधान के लिए जिस प्रकार से हमारे देश की युवा शक्ति पर विश्वास कर रहे हैं वह सराहनीय है और निश्चित रूप से इसके सकारात्मक नतीजे सामने आएंगे।
हैकेथोन के पहले दिन प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने प्रतिभागियों के साथ संवाद किया था। प्रधानमंत्री के साथ संवाद की पात्रता पूरी करने वाली जिन टीमों का चयन किया गया था उनमें एनआईईटी ग्रेटर नोएडा, नोडल सेंटर पर प्रतिभाग कर रही दो टीमे भी शामिल थीं।
एनआईईटी के विद्यार्थियों ने इसी क्रम में ऑनलाइन माध्यम से रंगारंग कार्यक्रम भी प्रस्तुत किए।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*