महिला को तंत्रमंत्र के जाल में फंसाया, जंगल में लेजाकर किया दुष्कर्म, अधिकारियों से शिकायत पर मामला हुआ दर्ज

महिला को तंत्रमंत्र के जाल में फंसाकर जंगल में लेजाकर किया दुष्कर्म, अधिकारियों से शिकायत पर मामला हुआ दर्ज

रबूपुरा। कोतवाली क्षेत्र में पति के साथ झाड़-फूंक कराने गई महिला के साथ नषीला पदार्थ खिलाकर तांत्रिक व उसके साथियों द्वारा जंलग में ले जाकर सामूहिक दुश्कर्म करने का मामला प्रकाष में आया है। होष आने पर महिला को अपने साथ हुए कृत्य की जानकारी हुई। दर्जनों ग्रामीणों ने कोतवाली पहुुंच समूचे घटनाक्रम की पुलिस से षिकायत की। आरोप है पीड़िता घंटो तक थाने के सामने रो-रोकर फरियाद करती रही लेकिन उसकी कोई सुनवाई नहीं हुई। उधर पहले तो पुलिस मामले को दबाने का प्रयास करती रही लेकिन अगले दिन घटना उच्चाधिकारियों के संज्ञान में आने पर आनन-फानन में रिपोर्ट दर्ज कर पीड़िता को मैडिकल परीक्षण के लिए भेज दिया गया है। जानकारी अनुसार क्षेत्र के एक गांव निवासी युवक की कुछ महीने पूर्व ही षादी हुई थी तथा पिछले कुछ दिनों से उसकी पत्नी की तबीयत खराब रहने लगी तथा वह तंत्र-मंत्र के भंवर में फंस कर तांत्रिक से उपचार कराने लगा। बताया जाता है कि सोमवार को वह अपनी पत्नी को तांत्रिक के पास लेकर गया तो उसने झाड़-फंूक का बहाना कर दम्पत्ति को जंगल में ले गया। आरोप है कि महिला के पति को कुछ नषीला पर्दाथ खिलाकर पूजा पाठ का समान लेने बाजार भेज दिया तथा महिला को भी प्रसाद में कुछ मिलाकर खिला दिया। जिसके बाद तांत्रिक ने अपने अन्य साथियों को बुलाया और पीड़िता के साथ जबरन दुश्कर्म का प्रयास करने लगे। पीड़िता ने उनका विरोध किया लेकिन थोड़ी देर में ही वह बेहोषी की हालत में हो गई। आरोप है कि जब महिला का पति वहां लड़खड़ता हुआ पहुंचा तो आरोपी वहां से फरार हो गये। होष आने पर पीड़िता ने मामले की जानकारी अपने परिजनों को दी। बताया जाता है कि परिजन दोनों को बदहाल अवस्था में कोतवाली लेकर पहंुचे और शिकायत की लेकिन थाने के सामने घंटों तक तड़फने के बाद भी उनकी कोई सुनवाई नहीं हुई और उन्हें टरका दिया गया। उधर सूत्रों की मानें तो पहले तो पुलिस घटना को दबाते हुए समझौते का प्रयास करती रही लेकिन मंगलवार को मामला उच्चाधिकारियों के संज्ञान में आने पर आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर महिला को मैडिकल के लिए भेज जांच षुरू कर दी है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*