आईटीएस डेन्टल कॉलेज दीक्षांत समारोह में एमडीएस के 33 और बीडीएस के 115 छात्रों ने हासिल की डिग्री

ग्रेटर नोएडा,14 मार्च। आईटीएस डेंटल कॉलेज के एमडीएस के पांचवें बैच-2016 एवं बीडीएस के नौवें बैच-2014 के छात्रों की शिक्षा पूर्ण होने के अवसर पर दीक्षांत समारोह का आयोजन किया गया। दीक्षांत समारोह में मुख्य अतिथि कुलपति गुरू गोविंद सिंह इन्द्रप्रस्थ विष्वविद्यालय डॉ. महेश वर्मा एवं विशिष्ठ अतिथि, डॉ. रितू दुग्गल, निदेशक एम्स दिल्ली, आईटीएस द एजूकेशन ग्रुप के अध्यक्ष डॉ. आर.पी. चड्ढा, उपाध्यक्ष सोहिल चड्ढा, सचिव बी.के. अरोडा, निदेशक -पब्लिक रिलेशन सुरेन्द्र सूद एवं संस्थान के प्राधानाचार्य डॅा. सचित आनन्द अरोड़ा, सभी विभागों के विभागाध्यक्ष, शिक्षकगण एवं समारोह में सामिल विद्यार्थियों के माता-पिता की उपस्थिति में एमडीएस एवं बीडीएस के उत्तीर्ण छात्रों को डिग्री प्रदान की। इस अवसर पर डॉ. महेश वर्मा ने उपाधि प्राप्त करने वाले छात्रों एवं उनके माता-पिता को बधाई देते हुए कहा कि दन्त चिकित्सा में स्नातक एवं परस्नातक की उपाधि हासिल करने से आप सभी की राष्ट्र और समाज के प्रति जिम्मेदारी और अधिक बढ़ गयी है। डॉ. वर्मा ने उपाधि धारक छात्रों को समाज के प्रति उनकी जिम्मेदारी का अहसास दिलाते हुऐ कहा कि कठिन परिश्रम और मेहनत से मिले ज्ञान का उपयोग मानवीय मूल्यों की रक्षा और समाज के लिए होना चाहिए।

डॉ. रितू दुग्गल ने युवा चिकित्सकों को अपना आर्शीवाद प्रदान करते हुए कहा कि चिकित्सकों को चाहिए कि समाज के हर जरूरतमंद लोगों का सेवाभाव से इलाज करें। उन्होंने कहा कि यह उनके जीवन की एक नई शुरूआत है तथा आने वाले समय में उन्हे अब तक के अर्जित किये हुए ज्ञान को लोगों की देखभाल के लिए उपयोग में लाना है। संस्थान के प्राधानाचार्य डॉ. सचित आनन्द अरोड़ा ने विगत वर्षों में हुए संस्थान की उपलब्धियों को बताते हुए छात्रों से कहा कि चिकित्सीय शिक्षा का मुख्य उद्देष्य पैसा कमाना नही बल्कि समर्पित भाव से मरीजों की सेवा करना होना चाहिए। उन्होने छात्रों को उनका अतीत याद दिलाते हुए कहा कि आप सभी के माता-पिता ने दंत चिकित्सा पाठ्यक्रम में प्रवेष दिलाते हुए आप सभी के मन में दंत चिकित्सक बनने का बीजारोपण किया था और उस बीज को आप सभी ने अपने गुरूओं के सिखाये गये मार्ग पर चलते हुए अपनी कठिन मेहनत और परिश्रम के बल पर अब एक वृक्ष के रूप में परिवर्तित कर चुके है, और अच्छा वृक्ष वही होता है जिसकी छाया और फल अधिकतम लोगों तक पहुंच सके।

इस अवसर पर संस्थान के उपाध्यक्ष सोहिल चड्ढा ने सभी उत्तीर्ण छात्रों को अपना आर्षीवाद देते हुए सभी छात्रों से अपील की कि संस्थान के माध्यम से विगत पांच वर्षों में छात्रों को दंत चिकित्सा की जो विद्या प्रदान की गयी है उसके माध्यम से सभी छात्र अपने-अपने क्षेत्रों में जाकर जरूरतमंद मरीजों की सेवा करें और आईटीएस का नाम रोषन करें। इस अवसर पर बीडीएस 2014 बैच के सभी छात्रों द्वारा संस्थान में बिताये गये अपने अनमोल पलों को पिरोकर बनाई गयी वार्षिक पुस्तिका का विमोचन करते हुए मुख्य अतिथि डॉ. महेश वर्मा एवं विषिष्ठ अतिथि, डॉ. रितू दुग्गल, आईटीएस -द एजूकेशन ग्रुप के अध्यक्ष डॉ. आर.पी. चड्ढा ने उत्तीर्ण छात्रों के उज्जवल भविष्य की मनोकामना करते हुए कहा कि देष के विकास में षिक्षा और स्वास्थ्य का बडा अहम योगदान है और आईटीएस- द एजूकशन ग्रुप बेहतर शिक्षा और स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने हेतु प्रतिबद्ध है। अध्ययन के दौरान एकेडमिक सांस्कृतिक, खेलकूद आदि में विषेश रूप से अच्छा प्रदशन करने वाले बीडीएस के छात्रों में बेस्ट आउटगोइंग स्टूडेन्ट एकेडमी रायथम बत्रा, बेस्ट आउटगोइंग स्टूडेन्ट अमन खुराना(ऑलराउंडर),बेस्ट आउटगोइंग स्टूडेन्ट सागर सलुजा तथा एमडीएस के छात्रों में बेस्ट आउटगोइंग स्टूडेन्ट को पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*