कोरोना वायरस से डरे नहीं होम्योपैथ में बचाव व इलाज सम्भव-डॉ. जितेन्द्र सिंह

ग्रेटर नोएडा,3 फरवरी। कोरोना वायरस के खौफ से पूरे विश्व में एक डर का सा माहौल बना हुआ है, अधिकतर भारतीय एयरपोर्ट पर एलर्ट जारी हो चुका है। चाइना व यूएस में आपातकाल की सी स्थिति बनी हुई है। चाइना की सरकारी स्वास्थ्य एजेंसी द्वारा 13000 हजार से अधिक लोगो में संक्रमण व 400 से अधिक मौतो की पुष्टि हो चुकी है। भारत में भी हाई अलर्ट जारी हो चुका है। लोग भय और अफवाहो के शिकार हो रहे है। जवकि इस तरह से डरना गलत है। यह संक्रमण कुछ जानवरो से मानव में फैलता है तथा संक्रमित व्यक्ति के बलगम, छीक इत्यादि सम्पर्क में आने से अन्य स्वस्थ व्यक्तियों में इसके संक्रमण की संभावना अधिक बनी रहती है। कोरोना वायरस से होने वाला संक्रमण आम जुकाम और फलू की तरह ही होता है। लेकिन जब यह संक्रमण विना इलाज और जागरूकता के गंभीर रूप धारण करता है तो यह हमारे श्वसन तंत्र व प्रतिरोधक क्षमता को अत्यधिक प्रभाबित करता है।

कोरोना वायरस  संक्रमण के लक्षण

मुख्यतः श्वसन,पाचन व प्रजनन तंत्र में संक्रमण होता है। संक्रमित व्यक्ति में एक से दो सप्ताह में जुकाम और एलर्जी के से मिश्रित लक्षण जैसे नाक से पानी बहना, छीकें, गले में खराश, सिर व शरीर दर्द तथा बुखार आदि प्रमुख है। लेकिन जब ये लक्षण गंभीर हो जाते है तो सिवेअर एक्यूट रेस्पिरेटरी सिण्ड्रोम डवलप होकर हमारे फेफडो के निमोनिया, अग्नाशय की बीमारी व किडनी फेल्योर जैसी अति गंभीर अवस्था मौत का कारण हो सकते है। अभी तक इस वायरल बीमारी का कोई ठोस उपचार व वैक्सीन आदि उपलव्ध नही है। हम इस बीमारी से स्वच्छता और सावधानी द्वारा बचाव कर सकते है।

कोरोना वायरस से डरने की जरुरत नहीं

डा जितेन्द्र सिंह, एम.डी. होम्योपैथी चिकित्सा का कहना है कि इस वायरस से डरने की जरुरत नही है, इससे बचाव से ही रोकथाम संम्भव है। हमें हाथ साफ रखने चाहिए, हाथ मिलाने से बचना चाहिऐ, मुंह मास्क से ढक कर रखना चाहिए, संक्रमित व्यक्ति से बचाव करना चाहिए। इसके अलावा हमें हल्के गुनगुने पानी का सेवन करना चाहिऐ। विटामिन सी का उचित मात्रा में सेवन करें। अगर किसी भी व्यक्ति में सामान्यतः अगर इस प्रकार के लक्षण दिखाई देते है तो हमें घवाराना नही चाहिए। बल्कि एतिहात रखते हुऐ समझदारी दिखाऐ अपने नजदीकी स्वास्थ केन्द्र में जाकर चिकित्सक से परामर्श कर उचित चिकित्सा करबाएं।

होम्योपैथी में है वायरस जनित बीमारियों की उचित रोकथाम व उपचार

ग्रेटर नोएडा से आयुष मेडिकल एशोसिएसन उ0प्र0 के अध्यक्ष व वरिष्ठ होम्योपैथी चिकित्सक डा.जितेन्द्र सिंह बताते है कि होम्योपैथी चिकित्सा पद्वति में अन्य वायरल बीमारियो की तरह कारोना वायरस के लक्षणो से बचाव व इलाज की महती औषधियां उपलव्ध है। विदित हो कि 28 जनवरी 2020 को आयुष मंत्रालय भारत सरकार के अधीन संस्था सीसीआरएच के सलाहकार वैज्ञानिक बोर्ड की 64 वी बैठक में कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव हेतु एक हेल्थ एडवाइजरी जारी की गई है जिसमें कि होम्योपैथिक दवा आर्सेनिक एल्बम 30 की एक खुराक प्रतिदिन खाली पेट तीन दिन तक लेने की सलाह दी है। अगर फिर भी संक्रमण का खतरा बाकरार रहता है तो अगले माह फिर से तीन खुराक दुवारा ले सकते है। डा.जितेन्द्र सिंह बताते है कि इस औषधि के अलावा भी संक्रमित मरीज के प्रदर्शित लक्षणे के आधार पर सुनिर्वाचित औषधियां जैसे रस टाक्स, इनफलूएजिंनम, आर्स आयोड, जस्टीसिया अधोटा आदि अनेक होम्योपैथी दवाईयां उचित मार्गदर्शन में इस बीमारी में कारगर साबित हो सकती है। उन्होने बताया कि अति शीघ्र ही स्वास्थ्य विभाग के साथ मिलकर इस बीमारी से बचाव हेतु उचित होम्योपैथिक दवाओ का निःशुल्क वितरण किया जाऐगा। इस बीमारी की रोकथाम व उपचार के बारे में निःशुल्क हेतु डा.जितेन्द्र सिंह से उनके मोबाइल न. 8851821452 पर सम्पर्क किया जा सकता है।

 

 

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*