उत्तर प्रदेश व बिहार में अगला 48 घंटा अहम, मौसम विभाग ने जारी किया अलर्ट

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश व बिहार में  मौसम विभाग के अनुसार अलगे 48 घंटे बेहद अहम होने वाले हैं। विभाग ने रविवार को कहा था कि दोनों ही राज्यों के अगले दो से तीन दिन बेहद अहम होने वाले हैं। इस दौरान दोनों ही राज्यों में भारी से भारी बारिश का अनुमान जताया गया है। विभाग के इस अलर्ट ने राज्य सरकारों की मुश्किलें और बढ़ा दी है। बिहार में लगातार हो रही बारिश और मौसम विभाग के अलर्ट के बाद सीएम नीतीश कुमार ने भारतीय एयरफोर्स से मदद मांगी है। वहीं, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य में सभी अधिकारियों की छुट्टी को रद्द कर दिया है।  निर्धारित समयावधि के अनुसार आज मानसूनी सीजन का आखिरी दिन होना चाहिए। प्रत्येक वर्ष भारत में मानसून 1 जून से शुरू होकर 30 सितंबर तक खत्म हो जाता है। यह बात और है कि इस बार जाने के समय इंद्रदेव आने का आभास करा रहे हैं। आलम ये है कि आज की बारिश सितंबर माह में होने वाली सर्वाधिक बारिश का 102 साल का रिकॉर्ड तोड़ सकती है। पिछले 6 साल में ये पहला ऐसा मानसूनी सीजन है, जिसमें सामान्य से अधिक बारिश दर्ज की गई है। यूपी व बिहार में जंगल-जमीन-अस्पताल से लेकर जेल तक सब जलमग्न हो गए हैं। पूर्वी उत्तर प्रदेश के बलिया जिले में कैदियों को शिफ्ट करने की नौबत आ गई है। मौसम विभाग के अनुसार पिछले 6 साल में पहली बार इस मानसूनी सीजन के दौरान सामान्य से अधिक बारिश दर्ज की गई है। चार माह में हुई कुल बारिश ने 25 साल का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। पूरे देश में 29 सितंबर तक सामान्य बारिश का आंकड़ा 877 मिमी रहता है। इस बार अब तक 956.1 मिमी बारिश हो चुकी है, जो सामान्य से 9 फीसद अधिक है। मानसून का मिजाज बता रहा है कि ये आंकड़ा अभी और बढ़ेगा। मालूम हो कि इस वर्ष मानसून ने देर से दस्तक दी थी। शुरूआत में मानसून की रफ्तार काफी धीमी थी। जून में सामान्य से 33 फीसद कम बारिश रिकॉर्ड की गई थी। इस मानसून सीजन में सबसे बड़ा उलट-फेर दक्षिण भारत में हुआ है। दक्षिण भारत में जुलाई के महीने तक 30 फीसद से कम बारिश हुई थी। इसके बाद अगस्त और सितंबर में यहां हुई मूसलाधार बारिश की वजह से पूरे सीजन में इस रीजन में सामान्य से 16 फीसद ज्यादा बारिश हो चुकी है।

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*